ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
निजीकरण के विरोध में बीएमएस   हसदेव एरिया का चरणबद्ध आंदोलन शुरू
June 6, 2020 • विनोद पान्डेय • मध्यप्रदेश

 

बिजुरी/भारतीय मजदूर संघ की राष्ट्रीय स्तर की बैठक में पारित प्रस्ताव के आधार पर सरकार द्वारा कमर्शियल माइनिंग, विनिवेश, निजीकरण तथा राज्य सरकारों द्वारा श्रम कानूनों के निलंबन का एकतरफा निर्णय व बदलाओं के विरुद्ध चरणबद्ध आंदोलन का शंखनाद कर दिया। शनिवार को हसदेव क्षेत्र बीएमएस ने जन-जागरण अभियान के तहत सरकार की नितियों की निंदा की। कोयलाचंल क्षेत्र की भूमिगत खदानों में कार्य करने वाले कामगार, कर्मचारियों के हित के लिए बचन बद्ध ट्रेड यूनियन बीएमएस ने सभी खदानों पर जन-जागरण अभियान प्रारंभ किया। इस अभियान के अतंर्गत भारतीय मजदूर संघ अखिल भारतीय मजदूर संघ के राष्ट्रीय मंत्री राजेश सिंह परिहार एवम हसदेव क्षेत्र के अध्यक्ष रमाकांत तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 द्वारा उत्पन्ना तथा 5 प्रमुख श्रम संबंधित मुद्दों पर राष्ट्रव्यापी चरणबद्ध आंदोलन का शंखनाद किया हैं। जिसके तहत प्रवासी श्रमिकों की दयनीय स्थिति, नौकरियों में भारी नुकसान, वेतन भुगतान से नियोक्ता का इंकार, श्रम कानूनों का निलंबन एवं 12 घंटे कार्य का समय बढ़ाने का एकतरफा निर्णय, अनियंत्रित निजीकरण कमर्शियल माईनिंग विनिवेश जैसे श्रमिक विरोधी नितियों का बीएमएस विरोध करता है। भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ के नेता द्वय ने जानकारी देते हुए बताया कि चरणबद्ध आन्दोलन कार्यक्रम के तहत 1 से 15 जून तक जनसंपर्क जनजागरण प्रचार प्रसार, 13-14 जून को श्रमिक सम्मेलन, 16-30 जून तक सतत संपर्क अभियान करके सरकार पर मजदूर उद्योग विरोधी निर्णय वापस लेने के लिए दबाव बनाया जाएगा। तत्पश्चात भारतीय मजदूर संघ के अगले निर्देशों के तहत आंदोलनात्मक कार्यवाही की जाएगी। इसी क्रम बी एम एस द्वारा पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया।उपस्थित पत्रकारो को गमझा भेट कर सम्मानित किया गया।उक्त कार्यकम में राजेश सिंह परिहार,रमाकांत तिवारी,अनन्त प्रसाद सिंह,धीरेंद्र दुबे,कपिल शुक्ला,रूपलाल विष्वकर्मा, अशोक माली,रामवतार, श्याम लाल सिंह,एन पी मिश्रा उपस्थित रहे।