ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
निधि मिश्रा संचलिका उचित मूल्य  दूकान नगरपालिका परिषद पसान के खिलाफ दर्जनों पिडि़त राशनकार्ड धारियों ने भालूमाड़ा थाने मे की शिकायत
April 26, 2020 • विनोद पान्डेय • मध्यप्रदेश

अनूपपुर,पसान/श्रीमती निधि मिश्रा संचलिका उचित मूल्य दुकान का संचालन नगरपालिका परिषद के अंतर्गत कई वर्षों से कर रही हैं निधी मिश्रा अपने प्रभाव और राजनैतिक दल के बल पर  पिडि़त गरीब राशनकार्ड धारियों पर अपना रौब दिखाने से पीछे नहीं हटती हद तो तब हो गई जब गरीबों के हक का निवाला डांकरने लगी  गरीब राशनकार्ड धारी जब सरकार द्वारा दिये जाने वाले निःशुल्क राशन  जिसमें प्रति व्यक्ति 5किलो राशन केंद्र सरकार और राज्य सरकार गरीबों को  देने का निर्देश जारी किया तो निधि मिश्रा द्वारा गरीबों के राशन वितरण पर  अनिमियता  करने लगी जब इसकी शिकायत  जिले के आला अधिकारियों से पिडि़त पक्ष ने  शिकायत किया तो निधि मिश्रा अपने चाहेतो को लेकर भालूमाड़ा थाने पहुंच कर पिडि़त राशनकार्ड धारियों के खिलाफ झूठी शिकायत कर झूठे मामले मे फंसाने के लिए षडयंत्र रचना चालू किया जब इसकी भनक पिडि़त राशनकार्ड धरियों को पता चला तो भालूमाड़ा थाने जाकर अपनी शिकायत दर्ज किया सूत्रों से मिली जानकारी के अनूसार अब निधि मिश्रा और उसका पति रमेश मिश्रा अपनी कि गई गलती को छुपाने और अमानत मे खयानत करने के साक्ष्य को छुपाने और खाद्य विभाग के अधिकारियों के संरक्षण में आकर पिडि़त पात्रहितग्राहियों के हाथ पैर  जोड़ने की कोशिश कर रही हैं और कलतक  जिस रिकॉर्ड में अनिमियता थी उस रिकॉर्ड के साक्ष्य को सुधारने के लिए अपने घर से निकलकर कथित नेताओं  को साथ मे लेकर उनके संरक्षण में जाकर जिन गरीब राशनकार्ड धरियों को  कम राशन देने की शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों से कि थी उन्हें बाद मे घर से बुलाकर पूरा राशन देकर कोरम की पूर्ती कर रिकॉर्ड दुरूस्त किया जा रहा है और जो लोग जांच के बाद राशन लेने को कह रहे है उन्हें फर्जी मुकदमे निधि मिश्रा द्वारा फंसाने का प्रयास करते हुए थाना भालूमाड़ा मे फर्जी शिकायत की गई हैं जांच कार्रवाई मे विलंब से वरिष्ठ अधिकारियों पर सवालिया निशान उठ रहे हैं  अपने पक्ष मे करने और जबरन एक सादे कागज पर हस्ताक्षर कराने  के लिए दबाव बनाया जा रहा है और  कहा जा रहा है कि मै अपनी शिकायत वापस लेने को तैयार हूँ तो आप सभी लोग थाने से अपनी शिकायत वापस ले लो
दरअसल पूरा मामला क्या है 
श्री मती निधि मिश्रा संचालक उचित मूल्य दुकान नगरपालिका परिषद पसान एंव उसका पति रमेश मिश्रा अस्थाई कर्मचारी नगरपालिका परिषद पसान द्वारा अपने पद व प्रभाव का दुरूपयोग कर केंद्र और राज्य शासन की राहत योजनाओं के क्रियान्वयन मे राशन वितरण के लिए दिये गये निर्देश की अवज्ञा करते हुए एवं लाकडाउन का पालन न करते हुए पात्र अनुसूचित जाति व जनजाति एवं गरीब राशन कार्ड धारक व्यक्तियो के परिवार को आधी मात्रा का राशन हड़प कर अमानत मे खयानत कर पूरा राशन का वितरण न किये जाने एवं गाली गालौज व मारपीट की घटना कर अत्याचार किया और हितग्राहियों के विरूद्ध मिथ्या शिकायत कर भयभीत करने की कोशिश कर रही हैं श्री मती निधि मिश्राअनूपपुर जिले के  भालूमाड़ा के दफाई नं 03मे रहती हैं और अपने राजनैतिक बल का दुरूपयोग कर वार्ड नं 8,9,10और 11  गरीब परिवार को शासन द्वारा दिये जाने वाली प्रति व्यक्ति 5किलो गेहूं /चावल मे अनिमियता कर रही हैं जबकि भारत सरकार द्वारा और मध्यप्रदेश सरकार द्वारा गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले व्यक्ति के परिवारों के प्रति सदस्य के लिए 5 किलो निःशुल्क एक माह का राशन दिये जाने का आदेश किया गया लेकिन निधि मिश्रा संचलिका उचित मूल्य दुकान नगरपालिका परिषद पसान एवं उसका पति रमेश द्वारा अपने पद व प्रभाव का दुरूपयोग कर केंद्र एवं राज्य शासन कि राहत योजनाओं के क्रियान्वयन मे राशन वितरण के लिए दिये गये निर्देश की अवधज्ञा करते हुए एवं लाकडाउन का पालन न करते हुए पात्र अनूसूचित जाति व जनजाति एवं गरीब राशनकार्ड धारकों को दिनांक 17-04-2020 को अधिकांश राशन कार्ड धारक जैसे कि कार्ड मे 6सदस्य हैं उस हिसाब से प्रति व्यक्ति 5किलो से 30 किलो राशन मिलना चाहिए ऐसे बहुत से राशन कार्ड धरियों के साथ किया गया जबकि निधि मिश्रा द्वारा10- 15 किलो राशन दिया गया बचा आधा राशन हजम कर अमानत मे खयानत किये जाने का अपराध किया गया जिसकी विडियोग्राफी के माध्यम से राशन कार्ड द्वारा अपनी आपात्ति बतायी जाने पर निधि मिश्रा द्वारा अपने परिवार के श्री मती सुचेता मिश्रा व उसके पुत्र को बुलाकर अनूसूचित जाति के राशनकार्ड धारक के साथ मारपीट गालीगलौज कर अत्याचार की घटना की गई और राशन दुकान बंदकर अत्याचार किया गया निधि मिश्रा के पति द्वारा धमकी दी गई कि वह नगरपालिका पसान का कर्मचारी है जितना राशन दिया जा रहा लो अन्यथा गरीबी रेखा का कार्ड निरस्त करवा देगा एंव राशन दुकान बंद कर राशन का वितरण नहीं किया जिसकी तत्काल मौखिक जानकारी अनूपपुर SDM और थाना भालूमाड़ा मे की गई लेकिन निधि मिश्रा व उसके पति रमेश  मिश्रा और राजनैतिक पार्टीके प्रभाव मे आकर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हुई इसी तरह इसके पहले निधि मिश्रा और उसके पति  रमेश मिश्रा के द्वारा सरफराज नामक व्यक्ति के खिलाफ झूठी शिकायत की थी और बाद में फिर  मामले को समझौता कर लिया