ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
कोरोना कहर /जनता कर्फ्यू के बीच मप्र के जिलों में किया गया  लॉकडाउन
March 22, 2020 • NEWS NETWORK VISHVA SATTA • मध्यप्रदेश

भोपाल:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर रविवार को पूरे दिन देश थम गया। कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में हर इंसान ने अपनी भूमिका निभाई।जैसे ही5 बजे ,5 मिनट तक सभी ने  थाली, शंख, तालियां बजाकर  देश उन डॉक्टरों-नर्सों और आपातकालीन सेवाओं में लगे स्टाफ का आभार जताया, जो कोरोना खिलाफ लड़ाई में अपनी जान की भी परवाह नहीं कर रहे हैं।मध्य प्रदेश के जबलपुर में शुक्रवार को कोरोनावायरस के 4 संक्रमित मिले। इनमें 3 एक ही परिवार के थे जो दुबई से दिल्ली लौटे वहां से ट्रेन से जबलपुर आए थे। विदेश यात्रा की जानकारी छिपाने के आरोप में इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 269 और 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है इस बीच कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर, मध्य प्रदेश केजबलपुर, नरसिंहपुर, बालाघाट, सिवनी, छिंदवाड़ा और ग्वालियर, बैतूल  रीवा  शहडोल व अनूपपुर जिले में लॉक-डाउन की घोषणा की है। स्वास्थ्य विभाग की 16 टीमों द्वारा किए गए सर्वेक्षण में अब तक 24 लोगों का पता लगा है कि जो चार कोरोनावायरस सकारात्मक रोगियों के संपर्क में आए थे। इन सभी 24 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। नरसिंहपुर जिला ऐसा पहला जिला है, जिसने 21 मार्च की मध्यरात्रि से 14 दिनों की लॉक-डाउन की घोषणा की है,
क्या होता है लॉकडाउन 
बता दें कि लॉकडाउन एक आपातकालीन व्यवस्था है जो सामान्य तौर पर लोगों को एक निश्चित इलाके में रोकने के लिए इस्तेमाल की जाती है। सामान्य तौर पर इस प्रोटोकॉल की शुरुआत प्रशासन द्वारा की जाती है। इसकी घोषणा सामान्य तौर लोगों को बड़ी आपदाओं से बचाने के लिए की जाती है। फुल लॉकडाउन का मतलब होता है कि लोग अपने घरों से बिल्कुल बाहर नहीं निकल सकते जब तक कि कोई बेहद वाजिब कारण न हो या फिर कोई मेडिकल इमरजेंसी न हो.।