ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
कांग्रेस की सरकार को आमजनता ने वोट देकर बनाई थी, लेकिन भाजपा ने नोट देकर सरकार बनाई है, ये नोट की सरकार है, वोट की नही-कमलनाथ
October 7, 2020 • news network • मध्यप्रदेश

किसानो की आत्महत्या, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, महिलाओं पर अत्याचार में मध्यप्रदेश नंबर वन


अनूपपुर।
 विधानसभा अनूपपुर के उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के लिए 7 अक्टूबर को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय के प्रांगण में अनूपपुर की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि मै सबसे पहले आप लोगो को धन्यवाद देता हॅू कि आप लोग इतनी बारिश में भी बैठे है। आपने कांग्रेस का सम्मान बढ़ाया है, आपने मुझे मन की शक्ति दी और आपने मेरा खून ढाई सौ ग्राम बढ़ा दिया है। आप सभी इस लिए आए की आपको कांग्रेस पर विश्वास है। कांग्रेस की संस्कृति समाज को धर्म को जोडऩे की शक्ति है। पं. जवाहर लाल नेहरू व इंदिरागांधी ने कानून बनाए और आज जब आदिवासी समाज के पास इनकी जमीन सुरक्षित है, उनका भविष्य सुरक्षित है।  हमें कभी नही भूलना चाहिए अपने देश का इंतिहास, जहां बाबा साहब अंबेडकर एवं पं. जवाहर लाल नेहरू ने देश को संविधान दिया, हमारे देश का प्रजातंत्र पूरे विश्व में सबसे बड़ा प्रजातंत्र है। ये प्रजातंत्र कमलनाथ के लिए नही ये प्रजातंत्र हमारे नवजवानों के लिए है।  हमारे संविधान से खिलवाड़ किया गया, बाबा सहेब ने कभी नही सोचा था कि यहां की राजनीति में इस तरह की गिरावट आएगी, हमारा म.प्र. कलांकित हुआ, आदिवासी समाज तो सबसे विश्वासपात्र है, आदिवासी समाज कभी बिकता नही है और बिक जाता है तो पूरे आदिवासी समाज को कलंकित करता है। म.प्र. में सब कुछ बिका हुआ है, अगर उनके नेता बिके हुए है तो सब कुछ बिका हुआ है। 2018 में मैने शपथ ली तब कांग्रेस की सरकार हुई थी। कांग्रेस की सरकार को आमजनता ने वोट देकर बनाई थी, लेकिन भाजपा ने नोट देकर सरकार बनाई है, ये नोट की सरकार है, वोट की नही। शिवराज सिंह मुझे से 15 महीने का जवाब मांगते है, मै तो शिवराज से कहता हूॅ कि आप 15 साल का हिसाब दीजिए। 15 साल में आपने कितने झूठ बोलेहै, 15 साल में कितनी घोषणा की है। शिवराज को तो जनता ने घर में बैठा दिया था, मैने सोचा था कि आप घर में बैठ जाओंगे तो कुछ दिनो तक झूठ बोलना बंद कर दोगे पर शिवराज की बात तो निराली है इनके झूठ से तो झूठ भी शरमा जाती है। 15 हजार घोषणाएं तो शिवराज जी आपने करी है, जब ये आएगे अपने जेब में नरियल लाएगे, घोषणा करेंगे नरियल फोड़ेगे और आज कल तो वे अपने दोनेा जेबो में नरियल लेकर घुमते है जहां मौका मिला वहां नरियल फोड़ देते है।15 वर्षो में जो आपने प्रदेश मुझे सौंपा था वह किसानो की आत्महत्या में नंबर वन, बेरोजगारी में नंबर वन, भ्रष्टाचार में नंबर वन, महिलाओं पर अत्याचार में नंबर वन रहा। आज भी कितना बलात्कार हो रहा है, कितनी छूट है। शिवराज ने एैसा प्रदेश हमें सौंपा जहां कौन सी चुनौती नही थी, हमारे कृषि क्षेत्र की चुनौती, किसानो के जन्म कर्ज में होता था और उनकी मृत्यु भी कर्ज में होती है। मैने शुरूआत की थी किसानो का कर्ज माफ करने की और शिवराज सिंह जी जितना झूठ बोल लो आज 26 लाख किसानो का कर्ज माफ हुआ है। आप 15 साल का हिसाब दीजिए कितने झूठ बोले कितनी घोषणाएं की।  उन्होने कहा कि शिवराज सिंह जी घर में बैठे बिठाए सौदा कर अपनी सरकार बना ली। कौन सा पाप मैने किया, कौन सी गलती मैने की थी। 15 महीने हमारी सरकार रही, ढाई महीने आचार संहिता और लोकसभा ुचनाव में एक महीना चला गया, मेरे पास तो साढ़े ग्यारह महीने थे और मैने 100 रूपए बिजली बिल की, मैने किसानो का बिजली बिल आधा किया, मैने किसानो का कर्ज माफ किया, मैने नौजवानों के भविष्य के लिए लड़ाई शुरू की, मैने पेंशन बढ़ाई, जिससे बुजुर्ग को अच्छी पेंशन मिले।
ये हमारे उम्मीदवारेां के भविष्य का चुनाव नही है, ये म.प्र. के भविष्य का चुनाव है, ये चुनाव तय करेगा की आप इन नौजवानों का भविष्य कैसे सुरक्षित रहेगा, इस चुनाव में आप तय करेंगे की हमारी माता बहने कैसे सुरक्षित रहेंगी, ये इस चुनाव का मुद्दा है। आपका ध्यान मोडऩे आएगे, मैने देखा है फोटो नोट बांटते, यही बचा है बीजेपी के पास पर बीजेपी समझती नही कि नेता बिकाऊ हो सकते है यहां के वोटर नही, ये आदिवासी समाज बिकाऊ नही है। पैसा बांट लेना, सौदा कर लेना, नेताओं को खरीद लेना पर वोटर को नही खरीद पाओंगे, आज हमारा मतदाता समझदार है, हमारे नौजवान समझदार है और आपको 3 को फैसला करना है। हमारे उम्मीदवार तो आपकी सेवा करेंगे, मै उदाहरण देना चाहता हॅू की एक तरफ बिकाऊ है और दूसरी तरफ सीधा साधा ईमानदार आदिवासी । विश्वनाथ और कमलनाथ मिलकर अनूपपुर का नया इतिहास बनाएगें मै जिम्मेदारी लेता हॅ की नवजवानों का भविष्य सुरक्षित रखेगें और मुझे विश्वास है कि आप सच्चाई का साथ देगें। अगर आप सबने कमर ठान ली तो 10 को कांग्रेस का झंडा म.प्र. के विधानसभा में लहराएगा। 

पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने याद दिलाई म.प्र. में दिग्विजय सिंह का कार्यकाल

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भैया ने अपने उद्बोधन में  म.प्र. में दिग्विजय सिंह के कार्यकाल की याद दिला बैठे, उन्होने कहा कि जब बिसाहूलाल सिंह पीडब्ल्यूडी मंत्री थे, तब उनका नाम प्याऊ लाल पड़ा था, क्योकि वे पूरे प्रदेश के सड़क का डामर पी लिए थे। जिससे जनता को म.प्र. में दिग्विजय सिंह के कार्यकाल की याद आ गई। वहीं पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने अपने ही सरकार की पोल खोलने में कोई कसर नही छोड़ी।