ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
जिला प्रबंधक की शह पर चल रहा साला जीजा का खेल शासन को पहुँचा रहे लाखो का नुकसान
April 28, 2020 • विनोद पान्डेय • मध्यप्रदेश

एस.डी.एम. पुष्पराजगढ की कार्यवाही 7 गाड़ियो को गोदाम मे खड़ी करकर चाभी जप्त किए , 31गाड़ियो की हो चुकी है हेराफेरी गोदाम के मजदूरो ने सौपी एस. डी. एम. गाड़ियो की लिस्ट

रिपोर्टर:- ज्ञानचंद जयसवाल:- 

अनूपपुर :- राजेन्द्रग्राम वेयर हाउस गोदाम में माह अप्रैल मे मोहम्मद जकरिया को एल.आर.टी. (लोंग रूट ट्रांसपोर्ट) का ठेका मोहम्मद जकरिया ट्रांसपोर्ट के नाम से एवं उनके साले मोहम्मद मसरूर हुसैन  को फौजी ट्रांसपोर्ट के नाम से द्वार प्रदाय का ठेका मिला है ! तबसे साला जीजा दोनों संबंधित बिभाग के जिला प्रबंधक  एस.के. द्विवेदी एवं प्रभारी प्रबंधक राजेंद्र जाटव (जिला अकाउंटेंट) से मिलीभगत कर वेयर हाउस राजेन्द्रग्राम में आंख मिचौली का खेल खेलकर शासन को लाखों रुपये का चूना लगाया रहे है ! केंद्र प्रभारी अच्छेलाल एवं वेयर हाउस प्रबंधक कुशवाहा द्वारा जांच पर पहुंचे  अनुविभागीय अधिकारी विजय डेहरिया को बताया गया की 4.50 लाख किविंटल धान जो मिलिंग करने के लिये मिल गया हुआ था वो चावल पहले वेयर हाउस में तौल कराकर बैज्ञानिक भंडारण कराया गया है l जिसमे शासन का सिर्फ एक बार ही परिवहन खर्च लग रहा है ! जो सीधे राइस मिल से वेयर हाउस गोदाम तक पहुँचाया जा रहा है ! जिससे गोदाम  भरा हुआ है l परंतु एल.आर.टी. ठेकेदार मोहम्मद जकरिया ट्रांसपोर्ट द्वारा जिला प्रबंधक से मिलीभगत कर 3000 क्वंटल  एल.आर.टी. के परिवहन का आदेश करा लिया गया है l जबकि अभी गोदाम में चावल रखने की जगह नहीं है जिसकी जानकारी पूर्व में हमारे द्वारा उच्च अधिकारियों को दी गई है l परंतु अधिकारियों से सांठगांठ कर ऊपर ऊपर गोलमाल करने के लिए यह सब किया जा रहा है l जो खाद्यान कोतमा से लाया जा रहा है उसका कागजो में एक बार भाड़ा गोदाम लाकर लोडिंग एवं अनलोडिंग का खर्च राइस मिल से कोतमा गोदाम तक l दूसरी बार पुनः उसी खाद्यान को कोतमा गोदाम से परिवहन कर राजेन्द्रग्राम वेयर हाउस लाकर बगैर अनलोडिंग लोडिंग कराये बिभाग की मिलीभगत से सीधे उचित मूल्यों की दुकानों में भेजकर कागजी खानापूर्ति कर लाखो रुपये की हेराफेरी की जा रही है। जबकि एल.आर.टी.से खाद्यान तब भंडारित किया जाना है जब संबंधित वेयर हाउस में खाद्यान रखने की पर्याप्त जगह हो l परंतु मोटी रकम और परिवहन पैसा कमाने के फेर में संबंधित ठेकेदार एवं संबंधित बिभाग द्वारा नियम कायदों को धता बताकर मनमानी करने पर उतारू हैं।

वेयर हाउस प्रबंधक एवं हम्मालों के साथ ठेकेदार करता है मां बहन की गाली गलौच 

नियमतह पहले खाद्यान संबंधित वेयर हाउस में खाद्यान को अनलोड कर बजन कराकर भण्डारन करना एवं पूर्व से बैज्ञानिक भंडारित खाद्यान की तौल कराकर क्षेत्र की उचित मूल्य की दुकानों में आवंटन के आधार पर बराबर तौल कराकर नागरिक आपूर्ति प्रबंधक खाद्यान की गुणवत्ता परख कर खाद्यान की निकासी कराने की सम्पूर्ण जिम्मेदारी केंद्र प्रभारी अच्छे लाल एवं गोदाम प्रभारी कुशवाहा की होती परंतु इनके द्वारा ऐसा नहीं करा कर ठेकेदार के साथ सांठगांठ कर सीधे उचित मूल्य की दुकान में भेजा जा रहा है । संबंधित ठेकेदार द्वारा अन्य जगहों से खाद्यान लेकर वेयर हाउस में ना तो गुणवत्ता की जांच करवाना चाहते और न नापतौल बल्कि बगैर गाड़ी खाली कराये फर्जी स्टाक भंडारण दिखाकर पल्लेदारों का भाड़ा बचाने के उद्देश्य से मनमाने तरीके से उसी गाड़ी को सीधे क्षेत्र के उचित मूल्यों की दुकानों पर पहुचाने के लिये दबाब बनाकर खाद्यान पहुँचाया जा रहा है वेयर हाउस प्रबंधक एवं पल्लेदार द्वारा बिरोध व शिकायत करने पर ठेकेदार द्वारा उनके साथ गालीगलौज कर उन्हें मारने पीटने की धमकी दी जा रही है। ठेकेदार के हठ धार्मिता के कारण पूरे वेयर हाउस परिषर में आराजकता का माहौल बना हुआ है।

शिकायत के बाद पहुँचे एसडी एम पंचनामा बनाकर कार्यवाही का दिये आश्वासन

उक्त पूरे मामले की शिकायत अनुविभागीय दंडाधिकारी पुष्पराजगढ़ विजय डेहरिया के पास पहुची जिसपर उन्होंने अपने दल बल के साथ वेयर हाउस गोदाम पहुँचकर पंचनामा तैयार कर संबंधित कर्मचारियों हम्मालों के बयान लेकर संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध जांच कराने एवं कार्यवाही का आश्वासन दिया गया साथ ही वेयर हाउस प्रबंधन को सख्त हिदायत दी गई की ठेकेदार की दादागिरी नही चलेगी आप हर दिन की जानकारी हमारे कार्यालय में लिखित रिपोर्ट तैयार कर जमा करें और अगर संबंधित ठेकेदार बदतमीजी करता है या हम्मालों को निर्धारित दर पर मजदूरी भुगतान नहीं करता तो पुलिस थाने में उसकी रिपोर्ट दर्ज करावाये उनके साथ तहसीलदार टी आर नाग पटवारी सचिव सहित राजस्व अमला मौजूद रहा।

जकरिया ठेकेदार ने पहले भी हड़पी है पल्लेदारों की मजदूरी

उक्त ठेकेदार का वेयर हाउस राजेंन्द्रग्राम में खाद्यान ढुलाई का ठेका हुआ था तब भी ठेकेदार द्वारा गरीब मजदूरों का शोषण किया जाता रहा और उनके साथ बदसलूकी करते रहे वाहनों खाद्यान बगैर अनलोडिंग लोडिंग कराये कागजो में फर्जी आंकड़े दर्शाकर सीधे उचित मूल्यों की दुकान भेजा जाता रहा जिसका हम्मालों द्वारा सामूहिक रूप से बिरोध कर लिखित शिकायत की गई थी जिसकी पैरवी पूर्व सांसद दिवंगत नेता दलपत सिंह परस्ते द्वारा जिला प्रशासन से चर्चा कर उन्हें न्याय दिलाया जाकर संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध कार्यवाही करवाई गई थी इसके बाबजूद ठेकेदार द्वारा हम्मालों की मजदूरी 80 हजार रुपये हड़प कर ली गई थी।

गुणवत्ता की जांच कर रहे अधिकारी की भूमिका संदिग्ध

खाद्यान की गुणवत्ता की जांच कर रहे अधिकारी बितरण केंद्र प्रभारी अच्छेलाल जो कि उक्त ठेकेदार के बहुत ही करीबी ब्यक्तियों में माने जाते है जो हमेशा जकरिया ठेकेदार को फायदा पहुचाने का प्रयास करते है सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार जँहा भी जकरिया का ठेका होता है अच्छेलाल जी वही डियूटी करना पसंद करते है इस तरह अच्छेलाल जी एवं जकरिया ठेकेदार का चोली दामन का संबंध है अमानक को मानक खाद्यान बनाकर उसकी सप्लाई कराने में माहिर नागरिक आपूर्ति के प्रबंधक द्वारा जकरिया को रैक के ठेके में भी अच्छे लाल जी द्वारा अच्छी डियूटी देकर खासी मोटी रकम का इजाफा करा चुके है।

ठेकेदार के विरुद्ध नही हुई कार्यवाही तो काम बंद कर करेंगे बिरोध

उक्त ठेकेदार द्वारा किये जा रहे मजदूरों के साथ अत्याचार एवं उनके दोहन पर हम्मालों द्वारा अनुविभागीय दंडाधिकारी विजय डेहरिया को लिखित शिकायत देकर निष्पक्ष कार्यवाही की मांग की गई एवं शासन से मांग की गई की उक्त ठेकेदार से पूर्व में हड़पी गई राशि हमे दिलाया जाय एवं प्रत्येक गाड़ियों का खाद्यान पहले यहाँ तौल कराकर अनलोडिंग कराया जाकर भंडारित किया जाय तथा उक्त खाद्यान को दूसरी गाड़ी में पुनः तौल कराकर लोडिंग कराकर संबंधित उचित मूल्यों की दुकानों में भेजा जाय एवं बर्तमान में निर्धारित दर पर मजदूरी भुगतान कराया जाय अगर संबंधित ठेकेदार के द्वारा नियम विरुद्ध तरीके से मनमानी की जाती रही तो संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध कार्यवाही किया जाय कार्यवाही न होने की स्थिति में हम सब लामबंद होकर कार्य बंद कर ठेकेदार के खिलाफ बिरोध प्रदर्शन करने के लिए बाधय होंगे।

जानिए क्या है आल एज वेल के पीछे का राज

राइस मिल से सीधे गोदाम तक आ रहे वाहनों को बगैर आनाकानी किये तत्यकाल खाली कराने की दिलचस्पी के पीछे का राज ये है की संबंधित मिलर मालिक के द्वारा जो धान की मिलिंग कर चावल भेजा जाता है उसमे नियमतः बहुत सारी त्रुटियां होती है जैसे बजन का काम होना प्रत्येक बोरी पर प्रिन्टेड शील रैपर ना होना अच्छी सिलाई ना होना जैसी कई कमियां स्पस्ट दिखाई देती है जिसे नजर अंदाज कर आल इज वेल करने के लिऐ उपस्थित संबंधित अधिकारियों को प्रत्येक गाड़ी की एवज पर फिक्स नजराना दिया जाता है एवं ठेकेदार द्वारा जो खाद्यान कोतमा से लाकर वेयर हाउस में भण्डारित कराता है उसमें संबंधित अधिकारी कर्मचारीओ को फूटी कौड़ी नसीब नहीं होती। 

इनका कहना है :-

मैं अपने टीम के साथ खुद शिकायत मिलने पर वेयरहाउस गोदाम गया था वहां पहुंचने पर काफी अनियमितताएं मैंने स्वयं देखी जिसका पंचनामा मेरे द्वारा तैयार कराया गया है उचित कार्रवाई की जाएगी ।

विजय डेहरिया अनुविभागीय अधिकारी पुष्पराजगढ़