ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
डिजी एलईपी के माध्यम से ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने हेतु कलेक्टर ने गठित ज़िला ब्लॉक एवं संकुल स्तर पर निगरानी समिति
April 25, 2020 • विनोद पान्डेय • मध्यप्रदेश

ऑनलाइन अध्ययन सामग्री की छात्रों/अभिभावकों तक उपलब्धता सुनिश्चित करने एवं फ़ीडबैक पर करेगी समितियाँ कार्य

अनूपपुर /प्रमुख सचिव (शिक्षा) एवं आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय म.प्र.भोपाल द्वारा लॉकडाउन की स्थिति में बच्चों को डिजिटल शिक्षा से जोड़ने हेतु निर्देश दिए गए हैं, ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई न रूके और अधिक से अधिक विद्यार्थियों को उच्च गुणवत्ता की शैक्षणिक सामग्री उपलब्ध हो सके। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन की स्थिति है ऐसे में सभी शिक्षण संस्थाए बंद है। डिजी एल.ई.पी. के माध्यम से कक्षा 1 से 12वीं तक के विद्यार्थियों को उनके घर में ही पढ़ाई सुनिश्चित करने हेतु शासन द्वारा प्रयास किया गया है।कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने निर्देश दिए हैं कि उक्त प्रयास से अधिक से अधिक छात्रों को लाभान्वित करने हेतु जिला स्तर, स्कूल स्तर एवं अभिभावक स्तर पर बनाए गए ग्रूपों में स्कूल के प्राचार्य, प्रधानाध्यापकों एवं जनशिक्षकों के द्वारा अधिक से अधिक बच्चों, अभिभावकों को जोड़ा जाये ताकि राज्य स्तर से प्रतिदिन कक्षावार पाठयक्रम के अनुसार जो पाठय सामग्री भेजी जा रही है उसका अधिक से अधिक विद्यार्थियों को लाभ मिल सके। जो नियमित एप के माध्यम से कम से कम 100 समूहों का उनके लिंक में जाकर निरीक्षण करें।जिला स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों सहित प्राचार्यों एवं शिक्षकों से अपने शिक्षकीय दायित्वों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कलेक्टर द्वारा ज़िला, ब्लॉक एवं संकुल स्तर पर समिति का गठन किया गया है। समिति प्रतिदिन समूहों से जुड़कर शिक्षकों, पालकों से चर्चा कर यह सुनिश्चित करेंगी शिक्षण सामग्री समय से ग्रुप में बच्चों तक पहुच जाये। समिति द्वारा उस दिन की प्रेषित शिक्षण सामग्री के बारे में बच्चों की अभिरूचि व पालकों का फीडबैक प्राप्त किया जाएगा व रिकार्ड संधारित कर प्रतिवेदन जिला शिक्षा अधिकारी को प्रस्तुत किए जाने के आदेश दिए हैं। समिति द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जाय कि शिक्षकों के द्वारा बच्चों की जिज्ञासा या प्रश्नों का सरलता, सहजता से उत्तर देकर समाधान किया जा रहा है।