ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
छात्र कितने भी बड़े पद पर क्यूँ न पहुंच जाएँ लेकिन वह अपने शिक्षक के सामने हमेशा ही छोटा रहता है: प्रेम कुमार त्रिपाठी
September 7, 2020 • विनोद पान्डेय • मध्यप्रदेश

अनूपपुर /देश भर में शनिवार को कोरोना संक्रमण के चलते कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए शिक्षक दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया गया ।कही उनके छाया चित्र पर माल्यार्पण कर , केक काटा गया तो कहीं ऑनलाइन कार्यक्रमों के जरिए उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला गया.वही मप्र  कांग्रेस के प्रदेश सचिव एवं अनूपपुर के पूर्व नगरपालिका अध्यछ प्रेम कुमार त्रिपाठी के अनूपपुर स्थित निवास में नगर के सेवानिवृत शिक्षकों का सम्मान तिलक लगाकर और श्रीफल भेटकर शिक्षक दिवस मनाया गया ,कार्यक्रम के पूर्व उपस्थित शिक्षकों व जनप्रतिनिधियों ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर शिक्षक के महत्व पर प्रकाश डालते हुए मप्र  कांग्रेस के  प्रदेश सचिव एवं अनूपपुर के पूर्व नगरपालिका अध्यछ प्रेम त्रिपाठी ने कहा कि शिक्षक का मेरे जीवन मेंबहुत ही गहरा प्रभाव है वह अपने जीवनमें सब कुछ त्याग कर बच्चों में अच्छे संस्कार गुणवान धर्म परायण देश प्रेम की भावना को जागृत करते हैं। ताकि वह अपने परिवार समाज के साथ एक सच्चे राष्ट्र निर्माण में योगदान दें।हमारे शिक्षक जलते हुए दीप के समान है, जो खुद जलकर दूसरों के जीवन में उजाला फैलातें है। छात्र कितने भी बड़े पद पर क्यूँ न पहुंच जाएँ लेकिन वह अपने शिक्षक के सामने हमेशा ही छोटा रहता है ,साथ ही कार्यक्रम में उपस्थित कमलनाथ सद्भावना मंच के जिलाध्यक्ष सतेन्द्र स्वरूप दुबे ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण कर उनके जीवन घटनाक्रम में प्रकाश डालते हुए बताया की राधाकृष्णन जी अपने छात्रों को पढ़ाते वक्त उनको पढ़ाई कराने से ज्यादा उनके बौद्धिक विकास पर ध्यान देते थे।राधाकृष्णन का कहना था कि जब कभी भी कहीं से भी कुछ सीखने को मिले उसे तो उसे तभी अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए। 

सेवानिवृत शिक्षकों का किया सम्मान:-

शिक्षक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम  पर नगर के सेवा निवृत  शिक्षक बाबूलाल पाठक ,अर्जुन केवट ,बी एल द्विवेदी ,ऍम एल खान ,पंचम सिंह धुर्वे के साथ कार्यक्रम में उपस्थित  समस्त  शिक्षकों को श्री त्रिपाठी एवं सतेन्द्र स्वरूप दुबे द्वारा रोली चन्दन लगाकर साल श्री फल देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर  कार्यक्रम में सेवानिवृत्त शिक्षकों के अलावा रेलवे कांग्रेस के संयुक्त महामंत्री लक्ष्मण राव जी पूर्व पार्षद पुरुषोत्तम चौधरी पूर्व पार्षद रामाधार बैगा सामतपुर अनूपपुर कांग्रेस के मंडलम अध्यक् रियाज मंसूरी आशीष त्रिपाठी मनीष त्रिपाठी सामाजिक कार्यकर्ता संदीप गर्ग कुंभ लालजी यादव ,सुरेश प्रसाद वर्मा, चंद्रमणि विश्वकर्मा, मुस्तकीम, राकेश प्रजापति विनय विश्वकर्मा और राम सजीवन गौतम भी उपस्थित थे