ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेल मध्यप्रदेश राज्य धर्म विचार-विमर्श टेक्नोलॉजी
बिजली विभाग के कार्यपालन यंत्री और उसके बाबू को25000 की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने किया ट्रैप
December 10, 2019 • NEWS NETWORK VISHVA SATTA • मध्यप्रदेश

इंदौर लोकायुक्त की टीम ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के 2 कर्मचारियों अजय कुमार व्यास और प्रकाश शाह को लोड बढ़ाने के लिए 25 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. 

इंदाैर. इंदाैर लोकयुक्त पुलिस ने मंगलवार काे बिजली विभाग के प्रभारी कार्यपालन यंत्री और उसके बाबू को रिश्वत लेते पकड़ा है। उन्होंने बिजली लोड बढ़ाने के नाम पर फरियादी से 25 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी।बिजली ठेकेदार अशोक सोनी ने लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक से लिखित शिकायत की थी कि बिजली विभाग के अधिकारी लोड बढ़ाने के लिए 25 हजार रूपयों की रिश्वत मांग रहे थे. पुलिस अधीक्षक ने लोकायुक्त की एक टीम बनाई और ऑडियो रिकार्डिंग में रिश्वत की मांग की पुष्टि होते ही टीम को मौके पर रवाना कर दिया गया. बाबू प्रकाश शाह ने एमपीईबी  के दफ्तर में 25 हजार रूपये की रिश्वत लेकर पैंट की जेब में रखे ही थे कि लोकायुक्त दल ने उन्हें रंगे हाथों दबोच लिया और पैसे जब्त कर कार्रवाई शुरू कर दी.फरियादी के अनुसार फरियादी ट्रांसफॉर्मर और बिजली बिल फिटिंग का काम करते हैं. हाल ही में मल्हारगंज में स्थित नव निर्मित होटल में विद्युत ट्रांसफॉर्मर का 11 किलोवाट का लोड बढ़ाना था, जिसके एवज में एमपीईबी के प्रभारी कार्यपालन यंत्री ने 25 हजार रूपये रिश्वत की मांग की थी.आरोपी शासकीय कर्मचारियों को रंगे हाथों पकड़ने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत प्रकरण दर्ज कर मामले में जांच शुरू कर दी है. साथ ही एमपीईबी के वरिष्ठ अधिकारियों को भी पत्र लिख कर रिश्वतखोर अधिकारियों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी. आने वाले दिनों में इन अफसरों पर विभागीय कार्यवाही भी हो सकती है.